अखबारकर्मियों की मजदूर दिवस रैली May17

Tags

Related Posts

Share This

अखबारकर्मियों की मजदूर दिवस रैली

may day

पत्रकारों की सभी उचित समस्याओं को शीघ्र हल करेगी सरकार: शिवपाल यादव

लखनऊ, 02 मई। उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा है कि उनकी सरकार पत्रकारों की सभी उचित समस्याओं को शीघ्र हल करेगी।
वह मजदूर दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन द्वारा यू.पी. प्रेस क्लब में आयोजित अखबारकर्मियों की रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वह यूनियन द्वारा दिए गये ज्ञापन के सभी बिन्दुओं पर मुख्यमंत्री के साथ शीघ्र ही वार्ता करेंगे और जहाॅं तक संभव होगा सभी उचित मांगों को स्वीकार किया जायेगा।
रैली को वरिष्ठ कम्युनिस्ट नेता अतुल कुमार अंजान, रेलवे कर्मचारियों के नेता शिव गोपाल मिश्रा, हिन्द मजदूर सभा के नेता उमा शंकर मिश्रा के अलावा अखबारकर्मियों के वरिष्ठ नेताओं ने संबोधित किया। कार्यक्रम की अध्यक्ष आई.एफ.डब्ल्यू.जे. अध्यक्ष के. विक्रम राव ने की।
मुख्य अतिथि शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि समाजवादियों की सरकार हमेशा मजदूरों के हितों की पक्षधर रही है। सरकार ने आज ही श्रमिकों के लिए दुर्घटना बीमा योजना लागू की है। उन्होंने स्वीकार किया कि मजदूरों का शोषण आज भी जारी है। इसके विरूद्ध समाज के सभी वर्गों को मिल कर संघर्ष करना होगा। उन्होंने यूनियन की मासिक पत्रिका ‘श्रमजीवी कलमकार’ के मजदूर दिवस विशेषांक का विमोचन किया।
रैली को बोलते हुए प्रायः सभी वक्ताओं ने केन्द्र सरकार पर मजदूर विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि श्रम संबंधी कानूनों में संशोधन कार्पोरेट घरानों को लाभ पहूुॅंचाने के लिए किया जा रहा है। श्री अतुल कुमार अंजान ने कहा श्रम सुधारों के नाम पर राजस्थान में मजदूरों के हाथ से उनके केवल अधिकार ही नहीं छीने गये हैं वरन उनको मिलने वाला संरक्षण भी समाप्त हो गया है। ऐसे ही संशोधन मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की सरकारें भी कर रही है और केन्द्र सरकार का भी इरादा नेक नहीं है। उन्होंने इस अन्याय के विरूद्ध लड़ने  के लिए समान विचारधारा वाले दलों के बीच एकता पर बल दिया।
श्री शिवगोपाल मिश्रा ने कहा कि यदि सरकार ने रेल कर्मचारियों के हितों पर कुठाराघात का प्रयास किया तो नवम्बर माह में रेल का चक्का जाम कर दिया जायेगा। उन्होने कहा कि एक लम्बी लड़ाई की तैयारी के लिए कंन्द्रीय कर्मचारियों के संगठनां के बीच बातचीत चल रही है। श्री उमाशंकर मिश्र ने कहा कि सभी श्रमिक आनून निष्प्रभावी हो गये हैं।
आई.एफ.डब्ल्यू.जे. अध्यक्ष के. विक्रम राव ने कर्मचारियों के भविष्यनिधि के पैसे को शेयर बाजार में लगाए जाने की आलाचना करते हुए कहा कि यदि यह पैसा डूब गया तो कर्मचारी बुढ़ापे में क्या करेगा। उन्होंने कहा सर्वोच्च न्यायालय ने राज्य सरकारों से जांच कर मजीठिया वेज अवार्ड लागू होने संबंधी रिपोर्ट मांगी है। अब गैंद राज्य सरकार के पाले में है। उसे ईमानदारी से रिपोर्ट भेजना चाहिए। आई.एफ.डब्ल्यू.जे. सचिव हेमंत तिवारी ने मंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि ूयनियन को उनसे बहुत उम्मीदें हैं वह हमेशा  शार्ट नोटिस पर हमारे कार्यक्रमों में शामिल हुए हैं और उन्होंने हमेशा पत्रकारों की मदद की है।
उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूयनियन के अध्यक्ष हसीब सिद्दीकी द्वारा दिए गये ज्ञापन में राज्य सरकार की विभिन्न एजेंसियों द्वारा निर्मित भवनों और फ्लैटों में पत्रकारों के लिए आरक्षण, डेस्ककर्मियों की मान्यता बहाल करने और प्रदेश के सभी श्रमजीवी पत्रकारेां को चिकित्सा कार्ड दिए जाने की मांग की गयी। श्री शिवपाल यादन ने आश्वस्त किया कि वह मांगों पर मुख्यमंत्री से विचार-विमर्श कर उचित मांगों को लागू कराने का प्रयास करेंगे।
इससे पूर्व यू.पी. पे्रस क्लब के सचिव जे.पी. तिवारी, आई.एफ.डब्ल्यू.जे. कोषाध्यक्ष श्याम बाबू, यूनियन के प्रादेशिक महामंत्री पी.के. तिवारी और लखनऊ इकाई के अध्यक्ष सिद्धार्थ कलहंस ने मंत्री का पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।
shhaseebanjaanvashindrshivgopalshiv